सपने में रेगिस्तान देखना । Sapne Me Registan Dekhna

Published by Rashmi Saurana on

आज के हमारे लेख का विषय है, सपने में रेगिस्तान ( Sapne Me Desert Dekhna ) को देखना कैसा होता है। यह सपना किस प्रकार से हमारे जीवन को प्रभावित करता है। आज हम अपने इस लेख में इसी पर बात करने वाले है।

रेगिस्तान जहां पर पानी की कमी होती है, सब जगह रेत ही रेत होती है, ऐसी में जीवन यापन करना बहुत ही मुश्किल होता है।

कहने का तात्पर्य है कि वास्तविकता में रेगिस्तान में गुजर-बसर करना असंभव के बराबर है। तू ऐसे में हमें देखना होगा कि यह रेगिस्तान का सपना हमारे भविष्य के लिए क्या संदेश लेकर आता है।

अगर हम सपने में रेगिस्तान देखते है तो यह सपना निश्चित रूप से हमें कोई न कोई चेतावनी या संदेश जरूर देना चाहता है।

आइए हम जान लेते है कि यह रेगिस्तान का सपना हमें क्या कहना चाहता है। तो चलिए हम अपने लेख को शुरू करते है।

sapne me registan dekhna

सपने में रेगिस्तान देखना । Sapne Me Registan Dekhna

सपने में रेगिस्तान देखना अच्छा सपना नहीं होता है यह सपना भविष्य में दुर्भाग्य, खराब समय के आने, हानि और किसी कठिन निर्णय के लेने का सूचक होता है।

सपने में सफेद रेगिस्तान देखना । Sapne Me Safed Registan Dekhna

सपने में सफेद रेगिस्तान देखना अध्यात्म के क्षेत्र में आगे बढ़ने और आंतरिक रूप से जागृत होने का संकेत देता है।

सपने में रेगिस्तान में पानी देखना । Sapne Me Registan Me Pani Dekhna

सपने में रेगिस्तान में फूल देखना या रेगिस्तान में पानी देखना या रेगिस्तान में नदी देखना कठिन समय और परेशानियों से बाहर आने, अवसरों के प्राप्त होने, लाभ और सुख मिलने की ओर इशारा करता है।

सपने में कचरा देखना

सपने में रेगिस्तान में चलना । Sapne Me Registan Me Chalna

सपने में अपने आप को रेगिस्तान में अकेले देखना या रेगिस्तान में खोना या रेगिस्तान में चलना भविष्य में कठिन समय के आने, मान सम्मान के खराब होने, परेशानी, आपके अंदर असुरक्षा की भावना और अकेलेपन का प्रतीक होता है।

सपने में रेगिस्तान में तूफान देखना । Sapne Me Registan Me Tufan Dekhna

सपने में रेगिस्तान में तूफान देखना जीवन में किसी बड़ी परेशानी के आने, स्वास्थ्य खराब होने, मानसिक रूप से परेशान होने,परिवार में कटुता के आने और दुःख का संकेत देता है।

धन्यवाद ।


0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

close
error: Content is protected !!